plastic injection molding business

दोस्तों आप अपने आस पास अगर नज़र दौड़ाएं तो आप देखेंगे की आप प्लास्टिक से बनी हुई वस्तुओं से घिरे हुए हैं और रोज़ ही कुछ न कुछ सामान खरीदते हैं जिसमे प्लास्टिक का इस्तेमाल हुआ होता ही है। जिसका मतलब ये हुआ कि प्लास्टिक की खपत बहुत है और यह दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। माना प्लास्टिक पर्यावरण के लिए हानिकारक है और प्लास्टिक की थैलियों पर बैन लग जाता है लेकिन हर प्लास्टिक चीज पर बैन लगना संभव नहीं , इसका इस्तेमाल होता ही रहेगा जब तक कोई वैकल्पिक उपाय या साधन ना हो।

इसलिए प्लास्टिक मोल्डिंग बिज़नेस मैं अपार बिज़नेस संभावनाएं हैं क्योंकि प्लास्टिक मोल्डिंग से आप बहुत सारी उपयोगी चीजों का उत्पादन कर बाजार मैं बेच सकते हैं जैसे कि

  • गाड़ियों के प्लास्टिक बॉडी पार्ट्स
  • होम एप्लायंस जैसे टीवी , फ्रिज , कूलर , ऐसी , पंखों आदि के बॉडी पार्ट्स।
  • घरेलु उत्पाद जैसे टंकी , बाल्टी , टब , मग , विभिन्न प्लास्टिक कंटेनर आदि।
  • घरों मैं इस्तेमाल होने वाले इलेक्ट्रिक स्विच , बॉक्स, पाइप , फिटिंग , पैनल आदि।
  • मेडिकल मैं इस्तिमाल होने वाले कई तरह की चीजें।
  • अनेकों प्रकार के खिलौने।
  • प्लास्टिक के फर्नीचर जैसे खुर्सी , टेबल, बेंच , अलमारी आदि।
  • कंपनियों के उत्पाद को पैक करने के बोतलें , कंटेनर, पैकेजिंग मटेरियल आदि।
  • और भी बहुत सारी चीजें।

तो दोस्तों आप समझ ही गए होंगे कि आपके लिए कितना बड़ा मार्केट है और कितनी सारी डिमांड है राष्ट्रीय या इंटरनेशनल स्तर पर एक्सपोर्ट करने की । तो अगर आप स्वरोज़गार की तलाश मैं हैं तो प्लास्टिक इंजेक्शन मोल्डिंग का बिज़नेस एक बहुत ही सुनहरा बिज़नेस है, और बहुत सारे लोग विभिन्न विभिन्न प्रकार के प्लास्टिक प्रोडक्ट बना कर अच्छा पैसा कमा रहे हैं।

चलिए दोस्तों आपको बताते हैं प्लास्टिक इंजेक्शन मोल्डिंग बिज़नेस को किस तरीके से करें और क्या क्या बातों का ध्यान रख कर एक सफल उद्यमी बनें।

बिज़नेस सुरु करने का खर्चा – Initial capital investment required

दोस्तों इस बिज़नेस मैं सुरुवाती खर्चा काफी ज्यादा है इसलिए आप इसे अच्छी तरह से समझ लें और तभी ये बिज़नेस सुरु करें जब आपको लगता है कि आप इसमें बहुत मेहनत करने को तैयार हैं और आप अपने उत्पाद को बेच लेंगे , अन्यथा आपको भारी नुक्शान भी हो सकता है।

  • जगह का खर्चा – सबसे पहले आपको कम से कम 3000 sqft की जगह की जरूरत पड़ेगी जिसमे आपको प्रोडक्शन रूम के अलावा , कच्चे माल और तैयार सामान के रखने की जगह का प्रबंद करना पड़ेगा। साथ साथ आपको इसी मैं छोटा ऑफिस भी खोलना पड़ेगा। आपकी यह जगह किसी इंडस्ट्रियल एरिया मैं ही होनी चाहिए, ताकि आपको लाइसेंस और अन्य परमीशन लेने मैं कोई दिक्कत ना हो। इस जगह को बनाने का खर्चा आपको लगभग 2 लाख तक आ सकता है साथ ही किराये का महीने का खर्चा 30000 रुपये महीने से ऊपर ही आएगा।
  • इंजेक्शन मोल्डिंग मशीन का खर्चा – वैसे तो इंजेक्शन मोल्डिंग मशीन की कीमत लगभग 8 लाख रुपये से सुरु हो जाती है लेकिन अच्छे प्रोडक्शन कैपेसिटी की मशीनें लगभग 15 लाख के ऊपर ही आती हैं। आप अपने प्लान के हिसाब से मशीन खरीद सकते हैं।
  • डिज़ाइन मोल्ड टूल का खर्चा – इंजेक्शन मोल्डिंग मैं मशीन द्वारा तरल प्लास्टिक को भिन्न भिन्न प्रोडक्ट के डिज़ाइन के मोल्ड टूल मैं डाल कर प्रोडक्ट तैयार किये जाते हैं। एक मोल्ड टूल से एक ही तरह के डिज़ाइन और आकर का प्रोडक्ट बनेगा। दूसरी तरह के डिज़ाइन और आकर के लिए आपको मोल्ड दूसरा लगाना होगा। एक मोल्ड की कीमत आकार और जटिलता के आधार पर कम से काम 50 हज़ार से ऊपर सुरु होती है।
  • स्रिन्क पैकेजिंग मशीन का खर्चा – दोस्तों कुछ प्रोडक्ट ऐसे हो सकते हैं जिनको पैकेजिंग की जरूरत पड़े तो आपको उस हिसाब की पैकेजिंग मशीन का भी सुरुवाती खर्चा करना पड़ेगा। पैकेजिंग मशीन लगभग 50 हज़ार रुपये से सुरु होती हैं।

तो अगर हम मोटा मोटा देखें तो इंजेक्शन मोल्डिंग बिज़नेस सुरु करने के सेटअप का खर्चा आता है करीब करीब 20 लाख रुपये । इसके अलावा आपका हर महीने का खर्चा किराया , सैलरी के अलावा आपके प्रोडक्शन पे तय होता है जिसमे कच्चे माल का खर्चा , बिजली का खर्चा , पैकिंग मटेरियल का खर्चा, ट्रान्सपोर्टेशन का खर्चा आदि शामिल हैं।

अच्छी बात ये है कि अगर आपके पास अच्छा प्लान है तो आप विभिन्न सरकारी स्वरोज़गार प्रोत्साहन योजनाओं के माध्यम से अपने बिज़नेस के लिए आसान शर्तों पर लोन भी ले सकते हैं। इसके लिए विभिन्न सरकारी स्वरोज़गार योजनाओं के विषय मैं अपने निकटतम सरकारी बैंक से जानकारी हासिल करें।

आप कौन सा प्रोडक्ट बनाएँगे – Decide what will you manufacture

plastic products

जैसा कि आपको बताया है कि प्लास्टिक इंजेक्शन मोल्डिंग से आप अनगिनत चीजों को बना सकते हैं इसलिए आपको सबसे पहले यह तय करना है कि आप कौन से प्रोडक्ट्स का निर्माण करेंगे। प्लास्टिक इंजेक्शन मोल्डिंग बिज़नेस मैं अच्छी सफलता तब मिलती है जब आपके एक ही तरह के प्रोडक्ट का प्रोडक्शन लगातार होता रहे और डिमांड बनी रहे।

अपना प्रोडक्ट फाइनल करने के लिए आप मार्किट मैं रिसर्च कर सकते हैं यह जानने के लिए कि कौन से प्रोडक्ट्स ज्यादा बिकते हैं, या कौन से प्रोडक्ट मैं प्रॉफिट ज्यादा है, या कौन से प्रोडक्ट मैं प्रतिस्पर्धा कम है, या कौन से प्रोडक्ट की मांग बढ़ने वाली है , या फिर आप कुछ नया ही अपना प्रोडक्ट बनाना सुरु कर सकते हैं।

आप किसी पहले से ही चलती प्लास्टिक मैन्युफैक्चरिंग कंपनी के सब-कांट्रेक्ट सप्लायर बन कर उसको अपना माल सप्लाई कर सकते हैं, जिसे वो अपना लेबल लगा कर बेचेंगे। या आप किसी कंपनी के प्रोडक्ट्स जैसे कि गाड़ियों , टीवी , फ्रिज,कूलर आदि के प्लास्टिक बॉडी पार्ट्स या पेंट कंपनी के डब्बे या अन्य प्रोडक्ट को बना कर उनकी फैक्ट्री मैं सप्लाय करने का अच्छा बिज़नेस सुरु कर सकते हैं और बाद मैं वैसी ही अन्य कंपनियों को भी अपना कस्टमर बना सकते हैं।

सुरुवात ऐसे प्रोडक्ट या प्लान से करें जिसमे आपको ज्यादा वैरायटी के प्रोडक्ट न बनाने पड़े , मतलब सुरुवात मैं 1-2 प्रोडक्ट ही बनाएं। और एक बार आपका बिज़नेस अच्छा सेट हो गया फिर आप अन्य प्रोडक्ट्स की रेंज भी बनाना सुरु करें।

कच्चे माल के सप्लायर तय करें – Fix your Suppliers

दोस्तों प्लास्टिक मोल्डिंग बिज़नेस मैं जो भी प्रोडक्ट आप बनाएं तो ये आपको ध्यान रखना होगा कि वो उसी तरह के प्लास्टिक का बना हो जो कि उस प्रोडक्ट के लिए उपयुक्त है अथवा मंजूर है। बहुत सारे तरह के प्लास्टिक मार्किट मैं उपलब्ध हैं जैसे PET, HDPE, PVC, LDPE आदि, तो जिस प्लास्टिक की आपको जरूरत है उस प्लास्टिक का दाना या कच्चे माल के सप्लायर से संपर्क कर आप अपने लिए कच्चे माल की आपूर्ति सस्ते से सस्ते दामों पर सुनिश्चित कर ले।

अपना डिस्ट्रीब्यूशन प्लान बनाएं – Fix your distribution or selling plan

अपने प्रोडक्ट्स बना कर उनको ग्राहकों तक पहुंचना बहुत महत्वपूर्ण काम है और इसमें पैसा और कमीशन भी देना पड़ता है। आपको यह जानना जरूरी है कि आपके प्रोडक्ट्स के खरीददार कौन होंगे और आप उन तक अपना प्रोडक्ट कैसे पहुचाएंगे। इसके बहुत सारे तरीके हैं जैसे कि डिस्ट्रीब्यूटर , रिटेलर के जरिये, या अपनी दुकान या ऑनलाइन बिक्री द्वारा सीधे कस्टमर को या फिर किसी कंपनी के OEM सप्लायर बन कर। इसके लिए आपको सेल्स और मार्केटिंग की भी टीम रखनी पड़ेगी। कुछ भी तरीका आपनाएँ लेकिन इतना सुनिश्चित करें कि आपका उत्पादन कस्टमर तक पहुंचे और इस्तेमाल हो।

आपके उत्पाद का मूल्य और प्रॉफिट मार्जिन – Decide your profit margin

हालांकि प्लास्टिक की वस्तुओं मैं प्रॉफिट मार्जिन अच्छा है पर ये बहुत कुछ मार्किट मैं सप्लाई और डिमांड पे निर्भर करता है और कौन आपके कस्टमर हैं उनपे भी निर्भर करता है इसलिए अपना बिज़नेस प्लान बनाते समय अपने प्रॉफिट मार्जिन को भी सही रखें।

कंपनी का रजिस्ट्रेशन – Register your company

इंजेक्शन प्लास्टिक मोल्डिंग बिज़नेस करने के लिए आपको अपनी कंपनी का रजिस्ट्रेशन करना बहुत जरूरी है और साथ साथ अन्य तरीके के लाइसेंस और क्लीयरेंस भी आपको लेनी पड़ती हैं। इसके लिए राज्यों की अलग अलग पॉलिसी हो सकती है इसलिए इसके बारे मैं अधिक जानकारी के लिए आप किसी प्रोफेशनल जैसे CS/CA अथवा कंपनी रजिस्टर करने की सेवा प्रदान करने वाली फर्म से संपर्क कर सकते हैं।

कंपनी की मार्केटिंग करें – Do marketing of company

products

एक बार आपने अपनी कंपनी सुरु कर ली फिर प्रोडक्शन , डिस्ट्रीब्यूशन के साथ साथ आपको अपनी कंपनी की मार्केटिंग भी करनी बहुत जरूरी है ताकि आप नए नए कस्टमर तक पहुंच सके और लोग आपके प्रोडक्ट को अपने आप खरीदें।

  • इसके लिए सबसे जरूरी है अपने प्रोडक्ट्स की क्वालिटी को बेहतरीन और मूल्य को सही रखें।
  • दूसरा अपनी कंपनी की मार्केटिंग के लिए टीम रखें जो कस्टमर तक पहुंच कर आपके प्रोडक्ट की जानकारी ग्राहकों तक पंहुचा कर नए ग्राहक बनाए, या फिर आपके डिस्ट्रीब्यूटर और रिटेल मैं पहुंच को मजबूत करे।
  • अपनी कंपनी की वेबसाइट जरूर बनवाएं क्योंकि आजकल लोग जानकारियां ऑनलाइन वेबसाइट पर ही ज्यादा देखते हैं।
  • अच्छे क्वालिटी प्रोडक्ट के दम पर अपनी कंपनी का ब्रांड मजबूत करें।

तो दोस्तों ये था आपके लिए एक स्वरोज़गार का तरीका जिसमे हमने आपको बताया कि कैसे आप इन्जेशन प्लास्टिक मोल्डिंग बिज़नेस सुरु कर सकते हैं। अगर आपने मेहनत और समझदारी से अपना बिज़नेस चलाया तो समझ लीजिये आपको करोड़पति बनने मैं देर नहीं लगेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.