low cost business idea

दोस्तों जब भी आप किसी दूकान से कुछ खरीदने जाते हैं तो आपने देखा होगा चीजों के पहले से ही पैकेट बने रहते हैं और आप उन पैकेट को उठा कर खरीद लेते हैं। ये पैकेट अलग चीजों के और अलग अलग वजन के होते हैं। पैकेट मैं पैक किये हुए सामान कस्टमर आसानी से अपनी मर्जी के हिसाब से खरीद सकता है और दुकानदार को भी इनको रखने और बेचने मैं आसानी होती है। कुछ पैकेट कंपनी के होते हैं और कुछ पैकेट बिना किसी कंपनी के लेबल के होते हैं।

रिटेल पैकेजिंग बिज़नेस क्या है – What is packaging business

दोस्तों आज इस पोस्ट मैं हम आपको बता रहें हैं कि किस तरह आप कुछ जरूरी चीजों को थोक मैं खरीद कर उनके पैकेट बना कर आसानी के साथ मुनाफे मैं बेच सकते हो और इसी को रिटेल पैकेजिंग बिज़नेस कहते हैं। आजकल बढ़ती हुई डिमांड और लोगों के खरीददारी करने का तरीका बदल गया है , जैसे कि पहले लोग आटा , दाल , चावल , तेल , मसाले आदि दूकानदार से तुलवा कर लेते थे लेकिंग अब लोग चाहते हैं पहले से पैकेट बने हों और वो अपनी मर्जी का पैकेट उठाएं और खरीद लें। इसलिए अब हर छोटी बड़ी चीज पैकेट मैं बनी हुई दुकानों पर मिलती है जिसमे दुकानदार और ग्राहक दोनों को सहूलियत होती है।

मार्किट मैं बहुत तरह के प्रोडक्ट अब पैकेट मैं मिलते हैं जिसे कि खाने पीने के प्रोडक्ट, सौन्दर्य प्रसादन , मसाले , खिलोने , प्लास्टिक के प्रोडक्ट आदि। कुछ कंपनी की पैकिंग मैं आते हैं और बहुत से प्रोडक्ट बिना कंपनी के पैकिंग के भी आते हैं। दोस्तों बहुत से प्रोडक्ट तो ऐसे हैं जो सिर्फ अच्छी पैकिंग की वजह से दुगने तिगुने दाम पर बिक जाते हैं।

तो दोस्तों इस तरह पैकिंग कर बेचने का बिज़नेस आप भी कर सकते है जो स्वरोज़गार का बहुत ही सरल तरीका है और इसमें कम खर्चे मैं अच्छी कमाई भी है। अधिकतर खाने पीने की चीजें आसानी से उपलब्ध हो जाती हैं और इन चीजों के पैकेट आप आसानी से बना कर बेच सकते हो जैसे कि

  • सौंफ के पैकेट
  • इलायची के पैकेट
  • मसालों के पैकेट
  • दालों के पैकेट
  • अचार के पैकेट
  • काजू , बादाम आदि ड्राई फ्रूट के पैकेट
  • चिप्स के पैकेट
  • नमकीन के पैकेट
  • आदि

बिज़नेस सुरु करने के लिए जरूरी उपकरण – Machines Required for Business

दोस्तों इस बिज़नेस को सुरु करने के लिए आपको चाहिए बस दो तरह की मशीनें एक तोलने की मशीन और दूसरी पैकिंग मशीन और साथ साथ पैकिंग करने के लिए प्लास्टिक के रेडीमेड पाउच या प्लास्टिक शीट का रोल । ये आप पर निर्भर करता है कि आप कितने बड़े पैमाने पर ये बिज़नेस सुरु कर रहे हो। तोलने के लिए एक तराज़ू से ले कर ऑटोमैटिक वजन नापने वाली मशीन भी आती है और पैकिंग के लिए भी हाथ की पैकिंग मशीन के अलावा आटोमेटिक पैकिंग मशीन भी आती हैं।

इन मशीनों की कीमत लगभग 1000 रुपये है।

अगर आप बड़े स्तर पर ये काम करना चाहते हैं तो ऐसी मशीने भी मार्किट मैं आती है जो पूरा तोलने से ले कर पैकिंग का पूरा काम अपने आप कर देती हैं। एक फुल आटोमेटिक पैकिंग मशीन की कीमत लगभग एक लाख से सुरु होती है।

आटोमेटिक पैकेजिंग मशीन

पैकेजिंग बिज़नेस की सुरुवात कैसे करें – How to start packaging business

दोस्तों ये बिज़नेस बहुत ही सरल और आसान है , इसमें सिर्फ करना ये है कि थोक भाव मैं चीजों को खरीदना है और फिर उनको छोटे छोटे रिटेल पैकेट बना कर दुकानों, रिटेल स्टोर , मॉल या फिर ऑनलाइन भी आप बेच सकते हैं। इसमें आप किस चीज का , कितने वजन का पैकेट बना रहे हैं और क्या रेट लगा रहे हैं आपको तय करना है और अगर आप ग्राहकों के हिसाब से क्वालिटी दे पाए तो फिर आप अच्छा पैसा कमा सकते हैं और आप इस बिज़नेस को आगे बढ़ा कर खुद के ब्रांड के प्रोडक्ट बाजार मैं उतार सकते हैं।

इस बिज़नेस को सही तरह से चलाने के लिए आप निम्नलिखित बातो का ध्यान रखें।

  • छोटे से सुरुवात करें – दोस्तों इस बिज़नेस को पहले छोटे से सुरुवात करें , जिसमे आपको मशीनों का खर्चा बिलकुल कम आएगा और आप इसको अपने घर से सुरु कर सकते हैं। बाद मैं जब अच्छी बिक्री होने लगे तो आप इसमें और इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं।
  • सही प्रोडक्ट का चुनाव करें – जिस चीज का पैकेट बना कर आप मार्किट मैं बेचना चाहते हैं पहले उस प्रोडक्ट के बारे मैं अच्छी जानकारी हासिल कर लें। इसमें आपको ये जानना जरूरी है कि क्या ये प्रोडक्ट लोग बिना कंपनी का नाम देखे लेते हैं या कंपनी देख कर लेते हैं। सुरुवात उन प्रोडक्ट्स से करें जिसमे ग्राहक कंपनी का नाम नहीं देखते। साथ मैं आपको ये भी देखना होगा कि ऐसे प्रोडक्ट को पैक कर बेचने के लिए लाइसेंस की जरूरत तो नहीं ?
  • प्रतिस्पर्धा पर ध्यान दें – प्रोडक्ट ऐसे चुनें जिनमे आपको प्रतिस्पर्धा ज्यादा न हो और उसकी डिमांड भी मार्किट मैं अच्छी हो। अगर ज्यादा प्रतिस्पर्धा होगी तो आपको दाम कम रखने पड़ सकते हैं जिससे मुनाफा कम होगा।
  • प्रोडक्ट क्वालिटी अच्छी रखें – जो भी प्रोडक्ट आप बेचना चाहते हैं वो आप अच्छी क्वालिटी का रखें क्योकि आपके बिज़नेस के लिए कस्टमर का बार बार आपका प्रोडक्ट खरीदना जरूरी है और वो तभी संभव होगा जब क्वालिटी अच्छी हो। इसके लिए प्रोडक्ट को थोक में अच्छी दूकान से खरीदें और खरीदने से पहले उनकी क्वालिटी जरूर जांच लें।
  • पैकेजिंग अच्छी रखें – जो भी पैकिंग आप कर रहें हैं ये जरूर ध्यान रखें कि उसमे इस्तेमाल हुए प्लास्टिक फ़ूड ग्रेड का हो और साफ़ सुथरा हो। आपको बाजार मैं बने बनाए पैकेट मिल जाएंगे जिन्हे आप सही कीमत पर थोक मैं खरीद लें। साथ साथ पैकेट के ऊपर जरूरी जानकारी जैसे कीमत , वजन आदि साफ़ साफ़ लिखें।
  • पैकेट सही बनाएं – आप जो भी पैकेट बनाएं वो ऐसा हो जो ग्राहक ज्यादातर आसानी से खरीद सके। जैसे कि दालें और अन्य अनाज आदि 100 ग्राम , 250 ग्राम , 500 ग्राम या 1 किलो का बनाएं। जबकि सौंफ , इलायची , चिप्स , नमकीन आदि का पैकेट 5 रुपये , 10 रूपए , 20 रुपये आदि के हिसाब से बनाएं ताकि ग्राहक को खरीदने मैं आसानी हो। ये बहुत ही जरूरी है सफलता के लिए
  • मार्केटिंग करें – आपके पैकेट ग्राहकों तक पहुंचने के लिए आपको इनको दुकानों और स्टोर्स मैं रखवाना पड़ेगा इसलिए आपको ज्यादा से ज्यादा दुकानों से संपर्क करना होगा और अपने पैकेट को रखवाना पड़ेगा इसके लिए
    • उन्हें अच्छा मार्जिन रखें।
    • अपने प्रोडक्ट की प्रचार सामग्री जैसे पोस्टर , पम्पलेट , स्टीकर आदि बना कर दुकानों पर लगाएं।
    • अपने प्रोडक्ट्स को दुकानों पर सही जगह रखवाएं जहाँ से वो ग्राहकों को आसानी से दिखें।

बिज़नेस बढ़ाएं – How to grow in this business

दोस्तों एक बार जब आप इस बिज़नेस को छोटे स्तर पर करने मैं सफल हो जाते हो और आपकी पहचान और पकड़ दुकानों पर हो जाती है फिर आप इस बिज़नेस को और आगे बढ़ा कर बड़े स्तर पर ले जा सकते हो जैसे की

  • कंपनी और ब्रांड बनाएं – आप आगे बिज़नेस को बढ़ाने के लिए अपनी कंपनी रजिस्टर करें और साथ साथ अपना ब्रांड भी रजिस्टर करें।
  • प्रोडक्ट सही चुनें – अब आप जान चुके होंगे कि कौन से प्रोडक्ट ज्यादा बिकते हैं और किसमे कमाई अच्छी है तो फिर आप अब बड़े स्तर पर 2-3 प्रोडक्ट पर ध्यान केंद्रित करें।
  • बड़ी मशीन लें – बड़े स्तर पर काम करने के लिए आप आटोमेटिक पैकिंग मशीन लगवाएं ताकि आप कम समय मैं ज्यादा से ज्यादा पैकेट तैयार कर सकें।
  • जरूरी लाइसेंस लें – बड़े स्तर के काम के लिए कई लाइसेंस और परमिट लगते हैं इसलिए आप इनका भी जरूर पालन करें और अपना GST रजिस्ट्रेशन भी करवाएं।
  • कच्चे माल की खरीद – बड़े स्तर पर काम करने के लिए आपको किसी अच्छे बड़े सप्लायर से माल खरीदना चाहिए या फिर आप सीधे उत्पादक जैसे कि किसानों या फैक्ट्री से खरीद सकते हैं और पैकेजिंग कर अअपनी कंपनी या ब्रांड के नाम से बेच सकते हैं ।
  • अपने उत्पादक खड़े करें या खुद उत्पादक बन जाएं – जब आपका बिज़नेस अच्छा चल निकलेगा तो फिर आप स्वयं उत्पादक बन सकते हैं या फिर अपने लिए उत्पादन करने वालो को खड़ा कर सकते हैं।

तो दोस्तों देखा आपने बिलकुल छोटे स्तर पर कम पूँजी लगा कर सुरु करने वाला यह बिज़नेस आपको काफी बड़े मुकाम तक पहुंचा सकता है। आप स्वयं तो स्वरोज़गार करेंगे ही साथ साथ आप अन्य लोगों को भी रोज़गार दिला सकते हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.