mobile repairing business

दोस्तों आज बहुत से लोगों के पास अपना कंप्यूटर या लैपटॉप है और आज लगभग हर किसी के पास मोबाइल फ़ोन है। आगे चल कर इनका इस्तेमाल और भी लोग करेंगे और एक दिन सभी के पास ये दोनों चीजें हो ही जाएंगी खासकर शहरों मैं। तो दोस्तों जब इतनी बड़ी तादाद मैं कंप्यूटर, लैपटॉप, मोबाइल लोग इस्तेमाल कर रहे हैं तो इनमे हर दिन लाखों खराब भी होते होंगे और कहीं न कहीं ठीक होने के लिए आते होंगे। तो दोस्त आज हम आपको बताएंगे कि आप कैसे कंप्यूटर , लैपटॉप और मोबाइल रिपेयरिंग का बिज़नेस थोड़ी ट्रेनिंग से बिलकुल कम सुरुवाती खर्चे से सुरु कर सकते हो और जिस तादाद मैं रिपेयरिंग का काम मिलता है उसमे आप अच्छे पैसे कमा सकते हो। रिपेयरिंग के काम से सुरुवात कर बाद मैं आप अक्सेसरीज , सिम कार्ड , रिचार्ज , न्यू या सेकंड हैंड प्रोडक्ट्स का भी बिज़नेस कर काफी अच्छी कमाई कर सकते हो।

दोस्तों हर बिज़नेस की तरह इस बिज़नेस को सुरु करने के लिए और इसमें अच्छी कमाई करने के लये आपको कुछ महत्वपूर्ण बातों को ध्यान मैं रखना होगा जो इस प्रकार हैं

क्वालिफिकेशन और एक्सपीरिएन्स – Qualification and Experience required

यह बिज़नेस एक टेक्निकल बिज़नेस है जिसमे आपको इलेक्ट्रॉनिक और उसमे इस्तेमाल होने वाले हार्डवेयर के साथ साथ सॉफ्टवेयर और उनको ठीक करने की टेक्निक आदि के बारे मैं जानकारी होना बहुत जरूरी है अन्यथा आप ठीक करने की बजाय चीजों को ख़राब कर सकते हैं और अपना नुक्सान भी करा सकते हैं।

course

इसलिए सबसे अच्छा है कि आप पहले किसी अच्छे संस्थान से कंप्यूटर /लैपटॉप और मोबाइल फ़ोन रिपेयरिंग बिज़नेस का कोर्स कर लीजिये जिसमे आपको हार्डवेयर सॉफ्टवेयर के बारे मैं सिखाया जाएगा , तथा इनको ठीक करेने की भी ट्रेनिंग दी जाएगी। ये कोर्स अलग अलग संस्थानों के हिसाब से अलग अलग अवधि और फीस के हो सकते हैं, पर ज्यादातर ये 2-3 महीने का कोर्स होता है और लगभग 10-20 हज़ार तक फीस होती है। इस कोर्स को करने के लिए सामान्यता कोई डिग्री की जरूरत नहीं होती इसको कोई भी कर सकता है।

तो इस रिपेयरिंग बिज़नेस मैं सफल होने के लिए ये कोर्स मन लगा कर रूचि से करें ताकि आपको सब अच्छी तरह आ जाए। उसके बाद आप अपना बिज़नेस सुरु करने की सोचें या फिर पहले 4-5 महीने किसी सर्विस सेंटर मैं काम कर लें जिससे आपको एक्सपीरियंस भी अच्छा हो जाएगा।

बिज़नेस की सही जगह चुनें – Choose best location for business

दोस्तों इस बिज़नेस मैं आपके दूकान या सर्विस सेंटर की लोकेशन बहुत जरूरी है। आप जब भी जगह का चुनाव करें तो ध्यान मैं रहे की ये बिलकुल रोड पर हो जहाँ से सबको दिखाई दे सके। दूसरा आपकी दुकान अगर किसी मार्किट एरिया या जहाँ लोग अक्सर आते जाते हों ऐसी जगह पर हो तो बहुत अच्छा है। तीसरा आपकी दूकान न छोटी हो और न ही जरूरत से ज्यादा बड़ी , सामान्यतः आप 200 sqft तक की दूकान खरीदें या कराये पर लें। अपने बिज़नेस का अच्छा नाम पक्का करें और एक बोर्ड दूकान के बाहर अवश्य लगाएं जिसमे आपके सर्विस की जानकारी हो। दूकान के इंटीरियर मैं कुछ रैक, वर्किंग टेबल, और रिसेप्शन अच्छा बनवा लें।

सुरुवाती खर्चा – Initial Investment in the business

accessories

दोस्तों आपको इस बिज़नेस के टूल्स, स्क्रू ड्राइवर्स, सोल्डरिंग गन, क्लीनिंग लिक्विड आदि के साथ साथ कुछ जरूरी कंप्यूटर हार्डवेयर सॉफ्टवेयर, अक्सेसरीज और मोबाइल फ़ोन की रिपेयर किट पर सुरुवाती खर्चा करना पड़ेगा। ये पूरा आपके ऊपर है कि आप क्या क्या खरीदें और बिज़नेस की सुरुवात करें , लेकिन बहुत जरूरी चीजें तो आपको रखनी ही पड़ेंगी जिसमे आपको कम से कम 25-30 हज़ार का इन्वेस्टमेंट लगेगा जिनके बिना आप काम नहीं कर पाएंगे।

कस्टमर बढ़ाने के लिए मार्केटिंग करें – Tips to increase customers at your shop

दोस्तों क्योकि इस बिज़नेस मैं काम बहुत ज्यादा है जो और बढ़ता जा रहा है साथ साथ इस बुसिनेस को सुरु करना बहुत आसान है इसलिए बहुत सारे लैपटॉप मोबाइल रिपेयरिंग बिज़नेस खुलते जा रहे हैं। ऐसे मैं प्रतिस्पर्धा बहुत अधिक हो गई है और आपको अपना मार्केटिंग ऐसा कुछ करना पड़ेगा जिससे ज्यादा से ज्यादा कस्टमर आपके ही पास आएं और आपका बिज़नेस अच्छा चले।

  • अपनी दूकान सही स्थान पर खोलें और अच्छी तरह से चीजों का डिस्प्ले लगाएं।
  • अपने बिज़नेस का रजिस्ट्रेशन करवाएं और कानूनी प्रक्रिया का पालन करें।
  • अपना काम कुशलता से करें और समय के अंदर करें , आप जितनी जल्दी काम करके देंगे लोग उतना आपसे काम करवाएंगे क्योकि लैपटॉप, मोबाइल लोगों की रोज़मर्रा की जरूरत है उसे वो बिलकुल कम समय के लिए सर्विस मैं रखना चाहते हैं और चाहते हैं हाथों हाथ काम हो जाए।
  • अपने काम को ईमानदारी से सही दामों पर करें क्योकि एक संतुष्ट कस्टमर खुद तो फिर सर्विस के लिए आएगा ही साथ ही आपका प्रचार कर आपको और कस्टमर भी दिलाएगा।
  • अपने बिज़नेस को समझें। सुरुवात में तो आप सभी तरह के मॉडल या कंपनी के प्रोडक्ट्स पर हर काम करेंगे लेकिन फिर अपने बिज़नेस के एक्सपीरियंस से समझिये क्या चल रहा है क्या नहीं, किसमे प्रॉफिट है किसमे नहीं। और फिर आप अपने बिज़नेस में उसी चीज का फोकस कीजिये जो आपके फायदे का है।
  • अपने आप को ऑनलाइन भी वेबसाइट पे फ़ोन नंबर के साथ रजिस्टर करें जैसे कि justdial , urbanclap , google आदि इसके लिए किसी डिजिटल मार्केटिंग करने वाले से संपर्क करें।
  • whatsapp , instagram , facebook मैं भी अपना अकाउंट बनाएं और लोगो से जुड़ने के साथ साथ अपने किये हुए कामों की तस्वीरें और वीडियोस साझा करें। साथ साथ गैजेट्स की लेटेस्ट जानकारी और न्यूज़ भी शेयर करें।
  • आप चाहें तो अपनी फ्री वेबसाइट भी google mybusiness मैं बना सकते हैं जो कि बहुत ही कारगर और अच्छा तरीका है।

कंप्यूटर मोबाइल रिपेयरिंग बिज़नेस का भविष्य – Future Scope of business

दोस्तों अगर आप अच्छी तरह से चला पाए तो कंप्यूटर मोबाइल रिपेयरिंग बिज़नेस मैं बहुत ज्यादा डिमांड और अच्छी ग्रोथ है। हाँ सुरुवाती 3-4 महीने आपको मेहनत के साथ साथ संघर्ष भी करना पड़ सकता है लेकिन एक बार आपका नाम हो गया तो खुद ही लोग आपकी दूकान पर आएँगे और आप अच्छी कमाई कर सकते हैं। साथ ही साथ अगर आप चाहें तो आप सेकंड हैंड या फिर नए लैपटोप मोबाइल बेचना भी सुरु कर सकते हैं साथ ही मोबाइल एक्सेसरी, गेम्स डाउनलोड , सॉफ्टवेयर, कंप्यूटर एक्सेसरीज जैसे वेब कैमरा, माउस, बैटरी, पेन ड्राइव,डाटा केबल आदि भी रख कर अपनी दूकान को काफी बड़े स्तर पे ले जा सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.